गुस्से को काबू कैसे करे। gussa kaise control kare

gussa kaise control kare

गुस्सा एक अयसी अग्नि है जो सबसे पहले, आपके मन की शांति और सुकून को जलाकर राख कर देती है । आपके रिश्तो में जहर भर देती है । बहुत ज्यादा गुस्सा करने वाला इंसान आपको कभी खुश नहीं दिखेगा ।वो हमेशा अपने आप से ही परेशान रहेगा । गुस्सा करने की सजा किसी और को नहीं, गुस्सा करने वालों को सबसे ज्यादा मिलती है । gussa kaise control kare

किसी ने एक सवाल पूछा है कि मुझे बहुत गुस्सा आता है । और जब गुस्सा आए तब क्या करना चाहिए? एक सच बात बताऊ, जब गुस्सा आता है ना उस समय आप कुछ नहीं कर सकते । लेकिन गुस्सा ना आए, उसके लिए आप पहले से इंतजाम कर सकते हैं । आप अपने आप को पहले से बदल सकते हैं । गुस्सा तो ऐसे हैं जैसे आपको छीक आती हैं । आप रोक सकते हैं क्या ? जैसे आपको खांसी आती है । तो आप रोक सकते हैं क्या ?

ऐसे ही गुस्सा भी है । जिस समय आपको आ जाता है, उस समय आप उसको रोक नहीं पाते । गुस्सा तो एक तूफान की तरह आता है , एक सुनामी की तरह है । जब आता है तब आप होश में कहां होते हैं  जो आप उसे रोक पाएंगे । इसीलिए गुस्से को रोकने के उपाय, गुस्से को आने से पहले ही करना होगा । gussa kaise control kare

गुस्से से बचने के तरीके

इसका एक उपाय तो यह है कि सुबह शाम आप आधा घंटा चुपचाप शांति में बैठा करो । और गहरी साँस को लेना और गहरी साँस  को छोड़ना । बस इतना सा अभ्यास करना है । और उस साँस पर अपना ध्यान टिकाए रखना है । इससे सरल कोई और उपाय नहीं है । घड़ी में देखकर पूरे 30 मिनट आप ये अभ्यास करिये । अभी देखने में बहुत आसान सा लगता  है लेकिन वास्तविकता में यह इतना आसान है नही ।

gussa kaise control kare
gussa kaise control kare

पूरे 30 मिनट तक, आपको अपना ध्यान, अपनी साँस पे  लगाकर रखना है । देखना शुरु में, आपका ध्यान कभी यहा भाग जाएगा, कभी वहा भाग जाएगा । आपका मन भटकता ही रहेगा । गुस्सा और क्या है ? आपके मन का भटकाव, आपके मन की अस्थिरता । और इस अभ्यास को करने से, आपका मन स्थिर होने लगेगा । आपका मन ठहरने लगेगा । आपको चीजें स्पष्ट दिखेंगी की परेशानी बाहर नहीं आपके मन के अंदर है । Gussa control kaise kare

हो सकता है कि आपका मन शुरू में बोर भी होने लगे । पर आपको 30 मिनट तक यह अभ्यास करना ही होगा । महात्मा बुद्ध ने इसी  ध्यान विधि को अनुपान सती ध्यान  का नाम दिया । इसे ही लोग विपसना भी कहते हैं । अपनी साँस पर निरंतर ध्यान टिकाए रखने से, निरवाना आत्म साक्षात्कार भी होता है । पर वो बहुत आगे की बात है । gussa kaise control kare

गुस्सा कैसे कंट्रोल करे

फिलहाल आप 30 मिनट तक इस अभ्यास को सुबह और शाम को करें । और पूरी गारंटी है जो भी इंसान 30 दिन तक लगातार, आधा घंटा सुबह और आधा घंटा शाम को, अपनी सांसो पर अपना ध्यान लगाये रखेगा । उसका मन बिल्कुल शांत हो जाएगा । उसका गुस्सा धीरे-धीरे खत्म हो जाएगा । पर होता क्या है ना लोग सुन तो लेते हैं पर करते नहीं हैं । पता भी है ये चीज में काम करती है पर फिर भी लोग चार-पांच दिन करके छोड़ देते हैं ।

आपको पता है आपकी जिंदगी में कोई चीज बदलाव क्यों नहीं लेकर आती है?  क्योंकि आप उसे लगातार नहीं करते । आप दो-चार दिन करके या तो थक जाते हैं या बोर हो जाते हैं या उसे करना ही छोड़ देते हैं । कोई भी चीज आपको दो-चार दिन में अपना असर  नहीं दिखा सकती ।कोई इंसान दो चार दिन जिम जाये और सोचे कि अब तो मेरी बॉडी बहुत अच्छी हो गयी है लेकिन ऐसा संभव नहीं है ।

गुस्सा कम करने का योग

लेकिन हां अगर वह निरंतर अभ्यास करता रहेगा तो धीरे-धीरे उसका शरीर एक दिन तंदरुस्त हो जाएगा । इसीलिए अपनी सांसो पे ध्यान करने का अभ्यास, कम से कम एक महीने तक लगातार करना है और इसका रिजल्ट आपको खुद समझ में आ जाएगा ।ये क्रोध ऐसा कोयला है जो इंसान इसे पकड़ कर हाथ में रखता है उसे ही जलाता है । अगर किसी को ये बात समझ में आ जाए कि क्रोध सबसे ज्यादा उसी का ही नुकसान करता है । तो कोई इंसान पागल है क्या जो अपना नुकसान खुद ही करेगा । gussa kaise control kare

आपके गुस्से से सबसे ज्यादा डैमेज आपको ही होता है । उसमें आपकी नसे तन जाती हैं । आपकी सांसे तेज होने लगती है । जब कोई इंसान दौड़ लगाये और उसकी सांस फूले तो अच्छी बात है ।समझ आता है । लेकिन कोई इंसान घर में बैठा है ,सोफे पे ही बैठा है और उसकी सांसें बहुत तेज चल रही है गुस्से  में तो इससे क्या होता है कि आपकी बॉडी में कोटिसोल की मात्रा बढ़ जाती है ।

gussa kaise control kare
gussa kaise control kare

और जब कोटिसोल कि मात्रा बढ़ जाता है आपकी बॉडी में तो वो आपके आर्त्रिश और नसों को नुकसान करते है । आप सुनते हैं ना की किसी को हार्ट का स्ट्राइक हो गया । किसी को ब्रेन का स्ट्रोक हो गया । किसी को लीवर का स्ट्रोक हो गया । यह क्यों होता है? यह होता है बहुत ज्यादा क्रोध के कारण । गुस्से के कारण । लोग अंदर ही अंदर गुस्से को खाते रहते हैं । अरे खाना ही हैं तो कुछ स्वादिष्ट भोजन खाओ । कुछ हेल्थी फ़ूड खाओ । कुछ मीठा खाओ । गुस्सा भी कोई खाने की चीज है क्या? gussa kaise control kare

बात बात पर गुस्सा आना

 इससे अच्छा तो कुछ मीठा ही खालो । मीठा खाने से, कम से कम आपका स्ट्रेस तो कम होगा । कोई काम आपकी मर्जी का नहीं हुआ आपको गुस्सा आ जाता है । किसी ने कुछ  आपको कह दिया आपको गुस्सा आ जाता है । आपको किसी ने डांट दिया आपको गुस्सा आ जाता है । लोग ट्रैफिक में फंस जाते हैं तो गुस्सा आ जाता है ।ट्रेन छूट जाती है तो गुस्सा आ जाता है । अंदर ही अंदर लोग गुस्सा खाते रहते हैं । gussa kaise control kare

आज के लोग ऐसे हो गए हैं जैसे कोई फूटने वाले बम हो । कि थोड़ी सी चिंगारी लगे तो एकदम से फूट जाता है । आपने वो सुतली बम देखा है । लोग उसको आग लगाते हैं तो वह थोड़ा जलता है । फिर बुझता है फिर जलता है । लोगों को लगता है कि जला, नहीं जला ।जला ,नही जला । लेकिन जब उसके पास जाते हैं तो एकदम से फुट जाता है । लोग भी आजकल ऐसे हो गए हैं कि थोड़ा कुछ हो कि  एकदम से फट जाते हैं बम कि तरह ।

किसी को कुछ बोल कर तो देखो, कैसे लोग आग बबूला हो जाते हैं । ऐसे ही जैसे कोई बम फूटता है तो उसके आसपास के लोगों को कितना कष्ट होता है । ऐसे ही जैसे तुम्हारा गुस्सा फूटता है तो आपके आसपास के लोगों को बहुत कष्ट होता है । बहुत तकलीफ होती है ।

गुस्से पर काबू

एक बार एक पति पत्नी मेरे पास शिकायत लेकर आए । वो माताजी अपने पति की बहुत बुराई कर रही थी । मेरी कोई बात नहीं समझते । कोई कहना नहीं मानते । मैं सब कुछ सहती रहती हूं । कुछ कहती भी नहीं उन्हें । उनका पति ऐसे चुपचाप करके बैठा हुआ था जैसे किसी ने मार मार कर उन्हें बैठाया हुआ हो । मुझे यही समझ में आया कि इसका पति उसे कुछ नहीं कर रहा । यह अपने आप से परेशान हैं । फिर मैंने उस माता जी से पूछा कि ये सच में तुम्हें परेशान करते हैं या तुम अपने गुस्से की वजह से परेशान हो ?

तो वह कहने लगी कि मैं तो कभी गुस्सा नहीं करती । और अपने पति से पूछने । लगी बताओ कि मैंने कभी गुस्सा किया है तुम पर आज तक कभी कुछ बोला है ? कभी तुम्हे कुछ नहीं बोलती हूं । और वह बेचारा पति चुप करके बैठा हुआ था । और वास्तविकता में इन्हें कोई परेशान नहीं कर रहा है यह अपने स्वभाव से ही परेशान हैं । लोग अक्सर अपने आप से ही परेशान होते हैं । उन्हें कोई गुस्सा दिलाता नहीं है, गुस्सा उनके अंदर बैठा ही हुआ होता है । थोड़ा किसी ने कुछ बोला ,कुछ ऐसा किया जो उनको अच्छा नहीं लगता । तो एकदम बम की तरह फूट जाते हैं । gussa kaise control kare

गुस्सा शांति मंत्र

कितने ही लोग मुझसे कहते हैं कि हम गुस्सा करना तो नहीं चाहते पर लोग हमें गुस्सा दिला देते हैं । अरे तुम इंसान हो कि टीवी हो कि जिसने जो बटन दबाया वो प्रोग्राम देना शुरू कर दिया आपने । आपका खुद पर कंट्रोल है भी या नहीं या लोग जैसे चलाये वैसे आप चलते हो । गोर्जिअफ़ से उनके पिता ने अपने अंतिम समय में कहा कि जब भी तुम्हे किसी पर गुस्सा आये ना तो उसका जवाब उस इन्सान को 24 घंटे बाद देना । चाहे कितना भी तेज गुस्सा हो । पर 24 घंटे तक उस इंसान को कोई जवाब मत देना । Gussa control kaise kare

जैसे जैसे गोर्जिअफ़  होने लगे, उन्हें ये समझ में आया कि 24 घंटे बाद तो गुस्सा रहता ही नहीं है । और 24 घंटे बाद कुछ कहने का मन भी नहीं करता । आपका गुस्सा भी ना एक बेहोशी की दवा की तरह है । जैसे ही आप पर चढ़ता है तो आपको कुछ समझ में नहीं आता । कुछ होश नहीं रहता । अगर आप भी यह बात अपनी जिंदगी में अपनालें कि जब भी गुस्सा आएगा तो उसका जवाब हम उसका 24 घंटे तक नहीं देंगे । और 24 घंटे के बाद जवाब देने की जरूरत भी नहीं पड़ती है ।

क्रोध को शांत कैसे करें

वास्तविकता में आपके मन के भटकाव के कारण ,गुस्सा आपका संस्कार बन गया है । और इस संस्कार को आपको तोड़ना है । यह आपकी आदत बन चुका है । और इस आदत को आपको बदलना पड़ेगा । कई लोग कहते हैं कि आदत बदलना आसान नहीं होता । माना आदत को बदलना आसान नहीं होता, लेकिन जो आदत को नहीं बदल सकता वह इंसान भी नहीं होता । हम इंसान हैं हम जो चाहे वह अपनी आदत बना सकते हैं । और हम जो चाहे अपनी आदत को बदल सकते हैं । gussa kaise control kare

तो आपको सुबह शाम 30 मिनट तक, अपनी सांसो को महसूस करने का अभ्यास करना है ।

और अगर आप दूसरा काम और कर सके तो और ज्यादा फायदा होगा । वह दूसरा काम यह है कि जिस भी परमात्मा के नाम में आप मानते हो । परमात्मा की उस दिव्य नाम को भी आधा घंटा अभ्यास के बाद थोड़ी देर तक जपे । क्योंकि मंत्रा चैटिंग से, आपके अंदर पुरिफिकेशन होता है ।

क्रोध पर नियंत्रण

पवित्रता आती है । शुद्धता आती है । और शांति आती है । पर शर्त यही है कि निरंतर अभ्यास 30 दिनों तक करे । अगर आपने यह दोनों अभ्यास किए तो विश्वास रखना 30 दिनों के बाद आप वही इंसान नहीं रहेंगे जो आप 30 दिन पहले थे ।

तो दोस्तों उम्मीद करता हु ”गुस्से को काबू कैसे करे। gussa kaise control kare”आपको ये पोस्ट अच्छा लगा होगा। और अगर आपको किसी तरह का लव समस्या है तो उसके सोल्युशन के लिए आप मुझसे कांटेक्ट कर सकते है।

दोस्तों अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे।
इसके अतिरिक्त आप अपना Comment दे सकते है और हमें E-Mail भी कर सकते हैं |

यदि आपके पास Hindi मैं कोई Article,Inspiring Story, Motivational Story, Life Tips, Money Tips या कोई और जानकारी है और यदि आप वह हमारे साथ Share करना चाहते है तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ हमें E-Mail करे | हमारी E-Mail Id है – admin@merijindagi.com यदि आपकी पोस्ट हमें पसंद आती है तो हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ अपने Blog पर Publish करेंगे |

Spread the love

Leave a comment