inspirational stories in hindi प्रेरणादायक कहानियाँ हिंदी में

प्रेरणादायक कहानियाँ हिंदी में inspirational stories in hindi

हेल्लो दोस्तों ,आज के इस ब्लॉग में मै आपको कुछ inspirational stories in hindi में बताया है .जिसको पढने के बाद आप काफी inspired होगे .

एक छोटे से गाँव में एक शिला नाम की औरत रहा करती थी वह बहुत गरीब थी .किराये के घर में रहती थी. उसके पति को गुजरे 2 साल हो गये थे .उसे एक लड़का था जिसका नाम था राजेश .वह पढाई में बहुत ही होशियार था. पति के गुजरने के बाद ,घर चलाने का सारी जिमेदारी शिला के कंधो पर आई थी .साथ में राजेश के पढाई का बोझ भी था .

शिला हमेशा सोचती कि उसका बेटा एक दिन बड़ा अफसर बनेगा .शिला जब कम करती तो राजेश भी उनके साथ जाता .शिला लोगो के घर जाकर बर्तन माजती तो कही खाना बना देती . तो राजेश बैठे बैठे लोगो के घर आये अख़बार को बड़े ध्यान से पढता .

Motivational hindi kahani

एक दिन जब राजेश अख़बार पढने लगा तो एक मालकिन ने बड़े गुस्से से कहा .अरे राजेश क्या तुम अख़बार पढ़ के बड़ा अफसर बन जायेगा .इससे तो अच्छा तो माँ के काम में हाथ बटा .कम से कम उससे कुछ मदद तो हो जाएगी . तब राजेश बोला मालकिन मुझे बड़ा अफसर बनना है .कलेक्टर बनना है .हम किताबे नही ले सकते .इसलिए ज्यादा ज्ञान के लिए मै अख़बार पढता हु .

वास्तविक जीवन प्रेरणादायक कहानियाँ हिंदी में Real life inspirational stories in hindi

मालकिन बोली तू और कलेक्टर .शक्ल देखी है अपनी .और ये कहकर मालकिन जोर जोर से हसने लगी .शिला को ये बात बहुत बुरी लगी और वो दोनों वहा से चले गये .फिर शिला ने शादियों में रोटी बनाने का कम शुरू किया .वह अकेली ही 15 से 20 किलो कि रोटिया बनाती थी .इसके लिए वो रात को 3 बजे ही अपना काम शुरू कर देती थी . उसके साथ राजेश भी उठता था और माँ को मदद करके अपनी पढाई करता था .

Inspirational-stories-in-hindi
Inspirational-stories-in-hindi

एक दिन अचानक मकान मालिक उनके पास आये और बोले क्या शिला जी तुम और तुम्हारा बेटा 3 बजे ही उठ जाते हो और ये लाइट जलाते हो .बिजली का बिल ज्यादा आ रहा है तुम्हारी वजह से .एक तो बिल ज्यादा दिया करो या तो कमरा खाली कर दो .और ये बोलकर मकान मालिक गुस्से से वहा से चले गये .फिर राजेश ने लालटेन जलाई और पढाई करने लगा .माँ भी उस प्रकाश में रोटिया बनाने लगी .अयसे ही करके राजेश ने अगले कुछ साल जी लगाकर पढाई की .और क्लास में हमेशा टॉप आने लगा .

राजेश की लगन देखकर ,उसके अगले पढाई के लिए उसके गुरु जी ने उसे दिल्ली जाने कि सलाह दी .और खुद खर्चा उठाने कि जिम्मेदारी ली .राजेश तब तक 22 साल का हो गया था .फिर क्या था राजेश दिल्ली चला गया .और वहा खूब पढाई की .वो घंटो लाइब्रेरी में किताबे पढ़ता रहता .और फिर एक दिन जब वो एक्जाम के लिए जा रहा था तो रास्ते में किसी ने गाड़ी से टक्कर मार दी .

लघु प्रेरणादायक कहानियाँ हिंदी में Short inspirational stories in hindi

राजेश जमीन पर गिर गया .उसके सीर और बाये हाथ में चोट आई .अब वो सोचने लगा कि मेरे बाये हाथ में चोट लग गयी है और सीर से खून भी बह रहा है .अब इस हालत में अस्पताल जाऊ या एक्जाम देने .अगर मै अस्पताल गया तो मेरा ये पूरा साल बर्बाद हो जायेगा .और मेरे लिए ये मुमकिन नही है .फिर दिल्ली में रहने का कमरे का खर्चा कौन उठाएगा .वैसे मेरे तो बाये हाथ में चोट लगी है .लेकिन दाया हाथ तो अब भी अच्छा है .मै इस हाथ से एक्जाम दूगा .

और फिर राजेश वहा से सीधा परीक्षा केंद्र गया और परीक्षा दी .परीक्षा देने के बाद राजेश अस्पताल में भर्ती हुआ और इलाज कराया .और राजेश अस्पताल में भी पढाई जारी रखी और इंटरव्यू अटेंड किया .फिर कुछ दिन के लिए राजेश माँ के पास गाँव वापस चला गया .कुछ दिनों बाद रिजल्ट के दिन माँ ने अख़बार खरीद के लाया और राजेश को परिणाम देखने को कहा .राजेश ने रिजल्ट देखा तो उसने जोर से चीख निकाली .और कहा माँ मै पास हो गया .तुम्हारा बेटा अफसर बन गया .मै कलेक्टर बन गया . inspirational stories in hindi

ये सुनते ही माँ के आँखों से आंसू आ गये .और वो दोनों रोने लगे .तो दोस्तों क्या समझे इस कहानी से .हमे हमेशा अपने लक्ष्य को पाने के लिए मेहनत करनी चाहिए .दुनिया चाहे हम पर हसे या मजाक उडाये .लेकिन हमे हमेशा अपने लक्ष्य का पीछा करना चाहिए .कामयाबी आपको जरुर मिलती है .

 भिखारन बनी डॉक्टर

एक बार की बात है .काशीपुर नाम के एक गाँव में .जगन नाम का एक भिखारी अपनी बेटी गौरी के साथ रहता था .गौरी कि माँ का गाँव में फैली महामारी के कारण निधन हो गया था .और जगन को ठीक से दिखाई नही देता था .इसी वजह से उसे कही काम नही मिलता .और मजबुरन उसे पेट पालने के लिए उसे अपनी बेटी के साथ भीख मागना पड़ता .और गौरी को भीख मागना पसंद नही था .वो पढना चाहती थी .जब भी गौरी पिता के साथ गाँव के सेठानी के घर पहुचती तो वहा उनके बेटे राजू को पढ़ते देख उसे खुद से बहुत बुरा लगता .

Inspirational-stories-in-hindi
Inspirational-stories-in-hindi

और ये देख सेठानी ताने देते हुए कहती .हरिया देख दरवाजे पे फिर से वही भिखारी होगा .कुछ भीख देकर उसे जल्दी भगा यहा से .गाँव में एक भी अस्पताल नही है .और अगर इन मनहूसो कि नजर मेरे बेटे पे लग गयी तो मै क्या करुगी .ये दोनों दुखी होकर वहा से चले गये .घर जाकर ,गौरी ने कहा पिता जी सारा गाँव हमसे दूर क्यों भागता है .क्या हम बुरे लोग है .तब पिता जी ने कहा ,अरे नही बेटा ,बुराई तो हमारी गरीबी और इनके सोच में है .

Time motivational story in hindi

पिता जी एक दिन मै डॉक्टर बनकर आपकी आँखों का इलाज करुगी .और इस गाँव में एक अस्पताल भी खोलूगी .बेटी हमारे लिए तो दो वक्त कि रोटी जुटाना ही कठिन है .ये तो बड़े लोगो के लिए है .काश मै तुम्हारे लिए कुछ कर पाता .तभी बाहर से एक औरत ने गौरी को पास बुलाया और कहा ,गौरी अगर तुम हमारा टॉयलेट साफ करोगी तो मै तुम्हे कुछ रूपये दुगी .गौरी ने उनकी बात मानी और उनका टॉयलेट साफ कर दिया .लेकिन गौरी को ये बात बहुत बुरी लगी और उसने फैसला कर लिया कि वो डॉक्टर बनेगी .

गौरी ने अपने पिता जी को मंदिर के बाहर रहीम चाचा के पास बैठा दिया और वो खुद कई दिनों तक गाँव में खिलोने बेचकर पैसे कमाने लगी .और फिर एक दिन गाँव की अध्यापक रेनू दीदी से मिलकर ,वो स्कूल जाने लगी .अब गौरी रोज स्कूल से आने के बाद खिलोने बेचती और पैसे कमाती .और अपने पिता का देखभाल भी करती .

Inspirational stories in hindi for students

गौरी रात रात भर जगकर पढाई किया करती और हमेशा अछे अंको से पास होती .गौरी की हिम्मत और सफलता देख सेठानी और अन्य गाँव के लोग हैरान थे .और वो जगन और गौरी से जलने लगे .और फिर सेठानी ने लोगो से कहा पता नही ये भिखारन पढ़ लिख कर कौन सा अफसर बन जाएगी .मै भी देखती हु .

गौरी हर साल अछे अंको से पास होती और अध्यापक रेनू ने भी गौरी कि पढाई में खूब मदद करती .धीरे धीरे समय गुजरता गया और गौरी बड़ी होती गयी .उसने अपनी मेंहनत और लगन से स्कूल की पढाई पूरी की और आगे डॉक्टर की पढाई पढने के लिए, कॉलेज में दाखिले के लिए इम्तिहान दिया .और उसने टॉप भी किया .

ये खबर सुनकर अध्यापक रेनू और उसके पिता जी काफी खुश हुए .फिर गौरी ने पिता जी से कहा डॉक्टरी की पढाई के लिए मुझे स्कॉलरशिप भी मिला है .लेकिन अब गौरी को अपने पिता को छोड़कर डॉक्टर की पढाई के लिए शहर जाना था .वो उदास हो गयी .तब रेनू ने कहा तू फ़िक्र ना कर .यहा मै सब सम्भाल लूगी .तू बीएस शहर जा और जल्दी ही डॉक्टर बनकर आना .inspirational stories in hindi

छात्रों के लिए प्रेरणादायक कहानियाँ हिंदी में

गौरी पढाई के लिए शहर चली गयी .गुजरते समय के साथ वो, अपने सपने के लिए तेजी से बढ़ रही थी .कई दिनों तक उसकी कोई खोज खबर नही आई .कुछ साल बाद गाँव में दुबारा महामारी की बीमारी तेजी से फ़ैल गयी .और रेनू के पिता सहित सेठानी और उसका बेटा राजू सभी बहुत बीमार हो गये .

और नगर के एक छोटे से अस्पताल में पड़े रहे .और कई दिनों से कोई डॉक्टर नही आया .सब बहुत दुखी और उदास होकर भगवान से जिंदगी कि प्रार्थना करने लगे .तभी एक नर्स ने सभी को खबर दी .और कहा अब आप लोगो को चिंता करने कि कोई जरूरत नही .आज सरकार की तरफ से शहर की सबसे बड़ी डॉक्टर आप लोगो का इलाज करने आ रही है .ये सुनकर गाँव वाले सब खुश हो गये .

तभी अस्पताल के सामने एक कार आकर रुकी .और उसमे से एक डॉक्टर उतरी .और गाँव के सरपंच ने उनका माला पहनाकर स्वागत किया .जब वो अस्पताल के अंदर आई तो उसे देख सभी हैरान रह गये .क्योकि वो डॉक्टर कोई और नही बल्कि वही भिखारन गौरी थी .

समय प्रेरक कहानी हिंदी में

गौरी ने अपने पिता का पैर छुकर आशीर्वाद लिया और फिर गाँव वालो का इलाज शुरू किया .गौरी के इलाज से ही कुछ दिनों में सभी गाँव वाले ठीक हो गये .गौरी ने अपने पिता कि आँखों का ओपरेशन कराकर उनकी रौशनी भी वापस लायी .गौरी कि मेहनत और लगन और सफलता की वजह से एक बार फिर सारा गाँव महामारी से पूरी तरह मुक्त हो गया .और सेठानी सहित बाकि गाँव वालो को अपनी गलती का एहसास भी हो गया .सभी गौरी को फुल माला का हार पहनाकर सभी जय जयकार करने लगे .इसे देख गौरी के पिता का सीना गर्व से चौड़ा हो गया .

तो दोस्तों हमे इस कहानी से ये सिख मिलती है कि अगर गौरी कि तरह मेहनत ,लगन और दृढ निश्चय से काम किया जाय तो हमे कामयाबी जरुर मिलती है .

भिखारन बनी गायिका

एक गाँव में विमला नाम कि एक गरीब औरत अपने बेटे रोशन और बहु माया के साथ रहती थी .विमला के पति का देहांत हो गया था जिससे सारी जिम्मेदारी बेटे रोशन पर आ गयी थी लेकिन गाँव में रोशन को कोई कम ना मिलने के कारण ,गरीबी और बेरोजगारी से उसकी मुसीबते बढती चली गयी .विमला कि बहु माया बहुत ही स्वार्थी और लालची स्वभाव कि थी .एक दिन उसने अपने पति से कहा ,सुनिए यहा अब कुछ भी नही रखा है और अब हम लोगो को शहर चले जाना चाहिए .वरना हम लोगो को भूखा ही मरना पड़ेगा .

real-life-Inspirational-stories-in-hindi
real-life-Inspirational-stories-in-hindi

तब रोशन बोला ,पर माँ तो यहा अकेली कैसे रहेगी .तो माया बोली ,आप माँ कि चिंता मत कीजिये .जब आपको नोकरी मिल जाएगी तब माँ को पैसे भेज दिया करेगे .रोशन अपनी माँ को छोड़ पत्नी के साथ शहर चला गया .कई महीने बीत जाने के बाद भी उसकी कोई खबर नही आई .बेटे और बहु के शहर चले जाने के बाद ,विमला पेट पालने के लिए दर दर भटकने लगी और भीख मागकर अपना गुजारा करने को मजबूर हो गयी .

Life story in hindi

वो हमेशा अपने बेटे का लौट आने का इंतजार करती लेकिन उनका कोई खबर नही आई और ना ही उनकी तरफ से कोई पैसा .विमला मंदिरों और रेलवे स्टेशन में भीख मागने लगी और उससे ज्यादा पैसे नही मिलते .और कई दिन उसे भूखा ही सोना पड़ता .विमला कि आवाज बहुत ही सुरीली थी और उसे गाने का शौक भी था .इसलिए उसने गाना गाकर भीख मागना शुरू किया था .जिससे बाद में धीरे धीरे लोग उसके गानों को सुनने के लिए इकट्ठा होने लगे .

जिंदगी प्यार का गीत है ,इसे हर दिल को गाना पड़ेगा .जिंदगी गम का सागर भी है ,हस के उस पार जाना पड़ेगा .

विमला के गानों से लोगो का अच्छा मनोरंजन होता और विमला को भीख में थोड़े अच्छे मिलने लगे .अब विमला रेलवे स्टेशन पर ही गाना गाती और उसे दो वक्त को खाने को भी मिल जाता .inspirational stories in hindi

एक दिन विमला रेलवे स्टेशन पर बैठकर गाना गा रही थी ,तभी वहा एक सज्जन व्यक्ति आये जिनका नाम आलोक था .और आलोक एक फिल्म डायरेक्टर था .उन्होंने विमला को इतनी सुरीली आवाज में गाते देख ,हैरान रह गया .वो विमला के पास आकर बोला ,माँ जी मैंने आपका गाना सुना है आप बहुत ही सुरीली गाती है .मै चाहता हु कि आप मेरी नई फिल्म में गाना गाये .मुझे आपकी तरह एक नये आवाज की तलाश थी .ये सुन कर विमला के आँखों में आंसू आ गये .

जीवन कथा हिंदी में

आलोक विमला को लेकर मुंबई चला गया .और विमला से अपनी फिल्म में गाना भी गवाया .और इसके बदले विमला को खूब सारे पैसे मिले .देखते ही देखते विमला का गाना ,हर जगह खूब सुनने में आने लगा .और पसंद भी किया जाने लगा .वो हर जगह खूब मशहूर हो गयी .अब विमला की जिंदगी पूरी तरह बदल चुकी थी .वो एक भिखारन से एक मशहूर गायिका बन गयी थी .उसे टीवी के मशहूर कार्यक्रम में दिखाया जाने लगा .

एक दिन जब माया ने अपनी सास को टीवी पर देखा तो उसकी आँखे फटी रह गयी .उसके मन में पैसे का लालच जाग उठा .उसने तुरंत अपने पति को ये बात बताई .और बोली ये देखिये माँ जी टीवी पर आ रही है .और वो काफी मशहूर हो गयी है .कितने दिन हो गये हम माँ जी से नही मिले .अब हम लोगो को उनके पास चलना चाहिए .आखिर हमारे सिवा उनका है ही कौन . तब रोशन ने कहा तुम ठीक कहती हो .और रोशन और माया दोनों विमला के पास पहुचे जहा वो एक बड़े बंगले में रहती थी .

Motivational story in hindi 2020

जब सिक्यूरिटी गार्ड ने अंदर जाने से रोका तब विमला ने बेटे कि आवाज सुनी और वो फ़ौरन बाहर आई .और अपने बेटे को देख विमला की आँखों में आंसू छलक पड़े .और उसने फ़ौरन अपने बेटे को गले से लगा लिया .और रोते हुए बोली आज याद आई तुझे अपनी माँ की .मैंने तुझे कितना तलाश किया .

अपनी माँ कि अयसी ममता और प्रेम को देखकर रोशन और माया दोनों को अपनी गलती का पछतावा हुआ और दोनों ने माफ़ी मागी .और माँ के लिए अपने बच्चे कि ख़ुशी से बढ़कर कुछ नही होता है .इसलिए विमला ने दोनों को माफ़ कर उन्हें गले से लगा लिया .

प्रेरक कहानी हिंदी में 2020

तो दोस्तों माँ कि ख़ुशी से बढ़कर दुनिया में और कुछ भी नही है .इसलिए हमे अपने स्वार्थ को त्यागकर अपने माँ बाप को कभी अकेला और बेसहारा नही छोड़ना चाहिए .

तो दोस्तों उम्मीद करता हु ”inspirational stories in hindi”आपको ये पोस्ट अच्छा लगा होगा। और अगर आपको किसी तरह का लव समस्या है तो उसके सोल्युशन के लिए आप मुझसे कांटेक्ट कर सकते है।

खुद को बेहतर बनाने के छह तरीके Six ways to improve

लड़की को प्रपोज़ कैसे करे Ladki Ko Propose Kaise Kare

ये 7 आदते आपको बना सकती है एक सफल इंसान

दोस्तों अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे।

Spread the love

Leave a comment