सच्चा प्यार क्या है । what is love । pyar kya hai

Spread the love

सच्चा प्यार क्या है । what is love । pyar kya hai

हेलो दोस्तों आज के इस ब्लॉग में मै आपको ये बताउगा कि सच्चा प्यार क्या है sacha pyar kya hai? क्या आज के युग में सच्चा प्यार क्या है? है भी या नहीं. क्या सबका प्यार झूठा है .क्या माता-पिता का प्यार भी सच्चा नहीं .वास्तव में प्यार के अलग-अलग स्तर है. एक प्यार, जो भक्त और भगवान का है. उसे भक्ति कहते हैं. एक प्यार, गुरु और शिष्य का है जिसे श्रद्धा कहते हैं. एक प्यार माता-पिता और बच्चों का है उसे ममता कहते हैं .बाकी जितने भी प्यार है, उनका स्तर, उनकी मान्यताएं, बदलती रहती है. कुछ भी फिक्स नहीं है. उसमें कुछ भी उसमें परमानेंट नहीं है .उन सभी प्यार में, प्यार हो भी सकता है और नहीं भी .पति पत्नी में प्यार हो भी सकता है और नहीं भी .

दो मित्रो में प्यार हो भी सकता है और नहीं भी .पर इन सब प्यार में ना बहुत गहराई होती है ,ना बहुत ऊंचाई .इनमें सब लोगों के भाव बदलते रहते हैं. कल तक जो जान से भी प्यारा लगता था .आज उसकी शक्ल से भी नफरत हो जाती है. वास्तविकता में यह सब प्रेम नहीं है. यह सब कुछ समय चलने वाली मन की भावनाएं हैं. जो कभी भी बदल जाती हैं .और हम यह मान कर बैठ जाते हैं कि जन्म जन्म का साथ है . प्यार क्या है

Pyar kya hai shayari

बातें तो प्यार की सब करते हैं ,लेकिन प्यार निभाना, सबके बस की बात नहीं है .किसी को भी यह कह देना कि मेरा तुमसे बहुत प्यार है .बहुत आसान बात है. लेकिन उसे निभाना हर किसी के बस की बात नहीं है .

मासूम मोहब्बत का, बस इतना  फ़साना है ,कागज की हवेली है, बारिश का जमाना है.

 क्या शर्ते मोहब्बत है, क्या शर्ते जमाना है. की आवाज भी जख्मी है, और गीत भी गाना है.

उस पार उतरने की उम्मीद बहुत कम है, क्योंकि कश्ती भी पुरानी है, और तूफान  को भी आना है.

समझे या ना समझे वो अंदाज मोहब्बत के, एक शख्श को आंखों से, दिल का सारा दर्द सुनाना है .

भोली सी अदा को ही फिर इश्क कि जिद पर है, फिर आग का दरिया है और डूब कर जाना है

प्यार का सौदा बहुत महंगा सौदा है और सस्ते  सौदागरों के पास आपको नकली प्यार ही मिलेगा. जैसे नकली वस्तुएं, हर दुकान पर मिल जाती हैं. प्यार क्या है

मत भिज ऊपर की सफाई पर, यह तो सोने का वर्क लगा है मिट्टी की मिठाई पर .

ऐसे लोगों की बातों से झांसे में मत आ जाना .लोग अपना काम करने के लिए ,प्रशंसा का ऐसा जाल बिछाते हैं कि अच्छे-अच्छे जाल में फंस जाते हैं. बातें करने में क्या जाता है. लोग बड़ी-बड़ी बातें करते हैं .चांद तारे तोड़ने की बातें करते हैं. पर जब निभाने की बात आती है .तो कहां जाते हैं? pyar kya hai

प्यार क्या है definition

लोग दुख उठाने की बात करते हैं, लोग आने जाने की बात करते हैं, हाथ मिलाना तो ठीक से नहीं जानते, और दिल मिलाने की बात करते हैं. sacha pyar kya hai

यहां लोगों को फंसाने के लिए, शब्दों के जाल बिछाए जाते हैं .कि कुछ भी हो जाए हम हैं .बैठे हैं तेरे साथ. कोई भी बात हो तो हमें बुलाना. लोग आने जाने की बात करते हैं, लोग दुख उठाने के बात करते है . यहां सब लोग चेहरे पर नकाब लिए घूमते हैं. कोई अपना असली चेहरा नहीं दिखाता. लेकिन इन नकली चेहरों की चमक में, फंस मत जाना .हर इंसान अपने आप को अच्छा दिखाता है .यही कोशिश होती है ,कि मैं सबको अच्छा लगु . अपने आप को सच्चा दिखाने के लिए बहुत ताकत चाहिए. प्यार क्या है

प्यार क्या है
प्यार क्या है

प्यार होने के बाद क्या होता है

कौन दिखाएगा अपनी सच्चाई को, अपने दिल पर हाथ रख के खुद से पूछना, यदि आप की सच्चाई उन लोगों को पता चले, जो आपसे बहुत प्यार करते हैं. तो उनके दिल पर क्या गुजरेगी .तो क्या वह आपके साथ रिश्तो में रहना चाहेंगे?  अपने आप को सच्चा दिखाना बहुत मुश्किल है .पर इस झूठी चमक में फंस मत जाना .जैसे जैसे हम किसी इंसान के करीब जाते हैं, धीरे-धीरे लगता है कि  वो इंसान अब बदल गया है . pyar kya hai

लेकिन सच्चाई तो यह है कि अब उसका झूठा नकाब उतर रहा है. हमें लगता है कि अब ये पहले जैसा नहीं रहा, अब इसकी बातें बदल गई है . इसका प्रेम पहले जैसा नहीं रहा .सब कुछ बदल चुका है. पर सच्चाई तो यह है कि अब उसका स्वार्थ पूरा हो गया है .तो उसने अपना नकाब उतार दिया है. अब जरूरत नहीं है उससे खुद को आपके आगे अच्छा दिखाने कि . आपसे जो उसको काम था वह हो गया .तो सावधान हो जाना एसी बातों से .बहुत ज्यादा मीठी बातें, अक्सर दुखों का कारण बनती है.

प्यार क्या है शायरी

पर लोग फंस जाते हैं .मीठी बातों में ,तारीफों में उलझ जाते है .और लोग आपसे अपना  स्वार्थ सिद्ध कर लेते हैं. और जब उनका काम हुआ फिर ना वह मीठी-मीठी बातें करते हैं, ना वह तारीफें मिलती  हैं. लोग  बड़ी-बड़ी वफा निभाने की कसमें खाते हैं .जाता क्या है कसमे खाने में .पर कौन निभाता है , pyar kya hai

वफा जहां तक देखा, बेवफा पाया जमाने को. इसलिए अब दिल नहीं चाहता, किसी से दिल लगाने को.

फिर लोग कहते हैं कि हम सिर्फ प्यार चाहते हैं .क्या प्यार के बदले में प्यार चाहना कोई गलत बात है क्या? अगर किसी को आपसे सच्चा प्यार है तो आप चाहो या ना चाहो, वह खुद आपको प्यार देगा. यदि आपको प्यार मांगना पड़े, तो समझ जाना कि आप सही रिश्ते में नहीं हो .कई लोग कहते हैं कि  हम 100 मैसेज करते हैं, तो सामने वाला एक मैसेज करता है. हम 100 बार फोन करते हैं, लेकिन सामने वाले को समय ही नहीं. प्यार क्या है

प्यार की परिभाषा हिंदी में

एक बात याद रखना, जिससे प्यार हो जाए, तो उस से प्यारा, फिर दुनिया में कुछ भी नहीं लगता .अगर उससे जरूरी कुछ लग रहा है इसका मतलब अभी प्यार नहीं हुआ. जिससे आपसे सच में प्यार होगा ,वह वही चाहेगा कि उसका सारा समय आपके साथ गुजरे. आपसे  दूरी उससे  सहन नहीं होगी. और आप भिखारियों की तरह उसका टाइम मांगते हो.पागलों जैसे, मैसेज और कॉल का इंतजार करते हो.

ये कैसा प्यार है . आपको कुछ दीखता भी है या नहीं .कि आप कर क्या रहे हो. क्यों आप मरे जा रहे हो उस इंसान के पीछे, जिससे कोई फर्क नहीं पड़ता आपके किसी भी बात से. कब होश में आओगे तुम?  अब और कितना दर्द सहोगे ? और कितना सताओगे खुद को? बस भी करो अब. संभालो खुद को .बहुत कुछ है आपकी जिंदगी में जो इन सब बातों से बढ़कर है .याद रखना आप जब किसी को अपना समय देते हैं .तो उसे  अपनी जिंदगी का वो हिस्सा दे देते हैं जो आपको फिर कभी नहीं मिल सकता. सच्चा प्यार क्या है

Sacha pyar kya hota hai

गुजरा हुआ कोई भी लम्हा जिंदगी का, आपको वापस नहीं मिलने वाला. कदर करो अपनी जिंदगी की, कदर करो इस लम्हे की ,जिंदगी बहुत खूबसूरत है यूं ही मत गवा  देना ऐसे ही .अब छोड़ो उन सब पुरानी बातों को, जिन्होंने आपकी जिंदगी में जहर भर दिया है . फिर से अपनी जिंदगी की, नई शुरुआत करो .लोग कहते हैं कि जिन से हम प्यार करते हैं, उन्हें हर काम के लिए समय होता है. पर हमारे लिए हमेशा बिजी रहते हैं. क्या आपको इतना भी नहीं दिखता कि उस इंसान को आपमें  कोई रुचि भी नहीं ?आप शायद आफत हो उसके लिए. सच्चा प्यार क्या है

होश में आओ.जिससे आपसे सच्चा प्यार होगा, वह हजार काम छोड़ के भी ,पहले आपको महत्व देगा. पहले आपके पास आएगा. अगर आपका नंबर हर काम के बाद आता है ,तो दूर रहो एसे रिश्तो से .और एक बात हमेशा देखने को मिलती है कि एक इंसान प्यार में पागल होता रहता है और दूसरे को परवाह ही नहीं होती. एसा  बहुत ही मुश्किल है कि दोनों में बराबर प्यार हो . हमेशा जैसे एक ही जुनून सवार रहता  है. शायद ऐसा इसलिए हो क्योकि एक का प्यार इतना ज्यादा होता  है कि दूसरा व्यक्ति लापरवाह हो जाता है. कि मैं करूं या ना करूं ,मुझे तो प्यार मिलना ही है.

प्यार क्या है
प्यार क्या है

प्यार क्या होता है कोट्स

पर कई बार हम इतना ज्यादा प्यार दिखाते हैं कि दूसरा व्यक्ति हो प्यार हो या ना हो, उसे मजबूरी में हा में सर हिलाना पड़ता है. अरे आप हद से ज्यादा प्रेम दिखा रहे हो, पहले उसको तो जानो. उसके मन में क्या है? अगर किसी के पीछे जबरदस्ती पड़ोगे तो दिल तो टूटेगा ही .हमारा इतना अधिक प्यार देखकर, सामने वाला व्यक्ति डर के मारे ये बोल ही नहीं पाता कि उसे हमसे प्रेम नहीं .फिर ऐसे ही झूठे रिश्ते चलते रहते हैं. फिर झगड़े भी होंगे, परेशान ही रहेंगे. ऐसे में आप हमेशा कंफ्यूज रहेंगे कि जिससे आप प्यार करते हैं उसका आप से प्यार है भी या नहीं .और जितना लोगों से पूछते जाओगे उतना उलझते जाओगे . सच्चा प्यार क्या है

यदि आपको बार-बार ऐसा लग रहा है कि प्यार है या नहीं,इसका मतलब प्यार नही है .यदि सच्चा प्यार होता तो ऐसी भावनाएं आपके दिल में कभी आती ही नहीं. sacha pyar kya hai

प्यार क्या है कोट्स इन हिंदी

प्यार मतलब अपनी जिंदगी में जहर मत भरो. फिर लोग शक करने लगते हैं. फिर एक दूसरे से सवाल जवाब पूछने लगते हैं .फोन चेक किए जाने लगते हैं .हर बात पर नजर रखी जाने लगती है. अरे जब आपको यह सब करना पड़ रहा है तो भी आपको इतना नहीं समझ आ रहा कि क्या हो रहा है ? फिर भी खुद को धोखा दे रहे हो. इतना सब होने के बाद भी, बस यही कोशिश करते हैं कि बस यह पक्का हो जाए कि  प्रेम है या नहीं. सच्चा प्यार क्या है

इससे ज्यादा कोई क्या समझाएगा आपको. जगाओ खुद को और समझो .और जो व्यक्ति किसी का इतना प्यार देखकर भी, सच नहीं बोल पाते ,अपनी भावनाएं नहीं बता पाते, वो कायर हैं .यदि आपको लगता है कि आपकी भावनाएं दूसरे के लिए वैसी नहीं है . और उसके इतने प्रेम को देखकर आप डरो मत .आगे चलकर उसे भयानक पीड़ा हो ,उससे अच्छा आप स्पष्ट कह दो.कि  जैसी भावनाएं आपकी है मेरे लिए, मेरी नहीं है .किसी को धोखे में रखना सबसे बड़ा पाप है .क्योकि जब उसके ह्रदय को, वह भयानक पीड़ा होगी, उसका परिणाम आपके जीवन में भी आएगा . सच्चा प्यार क्या है

प्यार कैसे होता है Pyar kaise hota hai?

तो यदि आपको लगता है ,बार-बार संदेह होता है, शक होता है, तो आप खुद को ही ले लो .आप जो भी कुछ प्रेम में करते हो .क्या वो  सब, वह व्यक्ति भी करता है जिसे आप प्रेम करते हो .फिर जब वो नही कर रहा तो भी आपको समझ नहीं आता .कि इसमें सच्चाई क्या है ? अब तो बस करो. अपनी समझ को जगाओ .और झूठ को पहचान के, होश में आ जाओ .बस बंद करो अभी तक का ये सिलसिला .कई बार लोग कहते हैं कि किसी इंसान से बिछड़ने के बाद हम जी नहीं पा रहे हैं, टूट गए हैं, भूल नहीं पाते हैं उनके यादो को . होश में भी हो या नहीं . sacha pyar kya hai

आपको तो खुश होना चाहिए कि आपकी जिंदगी से गंदगी निकल गई .आपके जीवन से वह वजह निकल गई जो आपके जीवन के लिए खतरनाक थी . दर्दनाक थी . जो रिश्ता पल पल आपको दुख दे , आपको रुलाये . उससे अलग होकर तो आपको खुश होना चाहिए और क्यों दुखी होते हो ,क्यों रोते हो. प्रेम भी आपने किया. समर्पण भी आपने किया . कमाल है ….दुख भी आपको .इस्तेमाल भी आपका हुआ. और दुखी भी आप हो रहे हो. कभी हंसी नहीं आती क्या खुद की ऐसी हालत पे .कि क्या कर रहे हो अपने साथ. pyar kya hai

प्यार की फीलिंग Feeling of love

अब तो होश में आ जाओ .कब तक गलतफहमी के नीद में सोते रहोगे. अब तो जागो .अब तो मुस्कुराओ. नई  जिंदगी जियो .बेहतर जीवन जियो. यह जिंदगी परमात्मा ने आपको अपने लिए दी है.रिश्ते जिंदगी के लिए होते हैं ,जिंदगी रिश्तो के लिए नहीं होती . यह तो जीवन का दस्तूर है .रिश्ते बनते हैं. टूटते हैं .इसकी पिछली बातें भूल के, हमें जीवन में आगे बढ़ना चाहिए. बहुत दर्द सह लिया.अगर आपको प्यार करना ही है तो अपने माता-पिता से करो. उनके जैसा सच्चा प्रेम, आपको कोई और नहीं दे सकता .माता पिता की ममता की तुलना, संसार के किसी प्रेम से नहीं की जा सकती.

 pyar kya hai
pyar kya hai

संसार के किसी रिश्ते में इतना त्याग, तपस्या और समर्पण हो ही नहीं सकता. जो एक माता-पिता का अपने बच्चों के लिए होता है. तो याद रखना यह बात कि उनके प्रेम और त्याग के आगे, संसार का हर प्रेम, हर रिश्ता छोटा है. इसलिए कभी भी अपने माता-पिता का दिल तोड़ के ,संसारी प्रेम के पीछे मत जाना . क्यों हमे माता-पिता के  प्रेम की ममता कम पड़ जाती है .और क्यों हमें परमात्मा के प्रेम की करुणा कम पड़ जाती है .सब कुछ तो दिया है भगवान ने. पर इनके प्रेम के महत्व को ,हम समझ ही नहीं पाते .कभी जान ही नहीं पाते. sacha pyar kya hai

प्यार कैसे होता है मीनिंग pyaar kaise hota hai meening

मनमाने प्रेम के पीछे भटकते हैं .इसीलिए तो इतना दुख मिलता है हमें .आप ये मत समझना कि प्यार में दर्द है. याद कर लो इस सच्चाई को कि प्यार तो परमात्मा का रूप है. प्यार भगवान है और भगवान प्यार है .और जिसने प्यार को जान लिया उसने भगवान को जान लिया .प्रेम तो गंगा की तरह पवित्र है लेकिन प्यार के नाम पर जो आजकल स्वार्थ और वासना का व्यापार हम करते हैं, उसे हमें कभी सुख और खुशियां नहीं सकती हैं . pyar kya hai

सच्चा प्रेम तो परमात्मा का वरदान है .और उस प्रेम को हमने अभी जाना ही नहीं .इन स्वार्थ और कामनाओं के प्रेम के ऊपर हम कभी उठ ही नहीं पाते. प्रेम तो फूल की तरह सुंदर है. जहां खिलता है सारी दुनिया महक जाती है .

आज हमको मिली फुर्सत है, चलो इश्क करें . इश्क तो सबकी जरूरत है ,चलो इश्क करे .यह हसती नाचती दुनिया इश्क वालों के बदौलत है,चलो इश्क करे . किसी भूखे को खाना खिला देना प्यार है . किसी रोते को हंसा देना प्यार है .किसी पक्षी को दाना खिला देना प्यार है .किसी रोते को हंसा देना प्यार है . किसी को कपड़ों से ढक देना प्यार है.

सच्चा प्यार क्या होता है शायरी

ये सब प्यार के रूप है .तो अपने माता-पिता के प्यार और ममता के महत्व को समझो. उन्हें प्यार करो. परमात्मा के  करुणामई प्रेम को जानो, उनसे प्यार करो . इस प्यार के मार्ग पर चलोगे ना, तो हमेशा इस प्यार में, खुशियां ही खुशियां मिलेंगी. अब ऐसा जीवन जियो, जिसमें खुशियां हो, मुस्कुराहट हो . sacha pyar kya hai

परमात्मा ने यह जिंदगी ,यह दुनिया ,बहुत खूबसूरत बनाई है. बस जरूरत है इसे नजर उठाकर देखने की. जो भी लोग मुझे इस ब्लॉग के माध्यम से पढ़ रहे हैं उनके भीतर बैठे परमात्मा को मैं प्रणाम करता हूं . मै अपनी बातों से किसी के भी  दिल को चोट नही पहुंचाना चाहते .लेकिन अगर किसी के दिल को चोट पहुंची हो तो  उसके लिए क्षमा चाहता हूं .

मैं अपनी बातों में, कही भी ये आग्रह नहीं करता हु  कि ऐसा ही है .लेकिन ऐसा जरूर कहुगा कि ऐसा भी है .जितनी दुनिया हमने देखी ,जो हमारे जीवन का अनुभव है. जितने लोगों के दर्द को करीब से समझा ,जाना .उस अनुभव के आधार पर, हमने यह सब बाते कही .यदि आपको अच्छा लगता है तो बहुत अच्छी बात है. यदि आपको यह बातें अच्छी नहीं लगती, तो कोई बात नहीं .यह सब बातें हमने इसलिए कहीं, क्योंकि कितने ही लोग हैं जो इस दर्द में जी रहे हैं. इस तकलीफ में जी रहे हैं. pyar kya hai

सच्चा प्यार क्या होता है

कितने लोगों के जीने मरने का सवाल हो जाता है. जिंदगी का सवाल हो जाता है .यह बातें उन लोगों तक जरूर पहुंचाएं जो तकलीफ में है, दर्द में है .क्या पता किसकी जिंदगी बच जाए. ये सब बातें करने के पीछे मेरा एक ही लक्ष्य है. कि मेरी बातों से, यदि एक भी इंसान तक सहायता पहुंच जाए.यदि एक भी इंसान खुद को दर्द से  निकाल पाए, खुद को संभाल पाए. तो मेरी बातें कहना सार्थक हो जाएंगी . saccha pyar kya hai

इसे भी पढ़े

तो दोस्तों उम्मीद करता हु ”सच्चा प्यार क्या है । what is love । pyar kya hai”आपको ये पोस्ट अच्छा लगा होगा। और अगर आपको किसी तरह का लव समस्या है तो उसके सोल्युशन के लिए आप मुझसे कांटेक्ट कर सकते है।

दोस्तों अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे।

इसके अतिरिक्त आप अपना Comment दे सकते है और हमें E-Mail भी कर सकते हैं |

यदि आपके पास Hindi मैं कोई Article,Inspiring Story, Motivational Story, Life Tips, Money Tips या कोई और जानकारी है और यदि आप वह हमारे साथ Share करना चाहते है तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ हमें E-Mail करे | हमारी E-Mail Id है – [email protected] यदि आपकी पोस्ट हमें पसंद आती है तो हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ अपने Blog पर Publish करेंगे |

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
6.6m
+1
99

Spread the love

12 thoughts on “सच्चा प्यार क्या है । what is love । pyar kya hai”

  1. Hey there! This is kind of off topic but I need some guidance from an established blog.
    Is it very difficult to set up your own blog? I’m not very
    techincal but I can figure things out pretty quick.
    I’m thinking about setting up my own but I’m not
    sure where to start. Do you have any points or suggestions?
    Many thanks

    Reply
  2. Howdy I am so delighted I found your web site, I really found you by mistake, while I was searching on Askjeeve for something else, Nonetheless I am here now and would just like to say many thanks for a fantastic post and a
    all round thrilling blog (I also love the theme/design),
    I don’t have time to read through it all at the minute but I have book-marked it and also included your RSS feeds, so when I have time I will be back to
    read a great deal more, Please do keep up
    the excellent work.

    Reply

Leave a comment